Saturday, June 12

Mukesh Sahni Flagged Off The Nishad Arakshan Sawand Bus Tour

मुकेश सहनी ने निषाद आरक्षण संवाद बस यात्रा को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

आरक्षण नहींतो चालीसों सीटों पर उतारेंगे निषाद समाज के उम्‍मीदवार : मुकेश सहनी

बिहार के प्रत्येक जिले से होकर गुजरेगी निषाद आरक्षण संवाद बस यात्रा

4 नवंबर को पटना के गाँधी मैदान लोगों की उपस्थिति में होगी पार्टी के नाम की घोषणा

पटना, 1 सितंबर 2018: निषाद आरक्षण की लड़ाई को तेज करते हुए आज निषाद विकास संघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष सन ऑफ़ मल्लाह श्री मुकेश सहनी ने निषाद आरक्षण संवाद बस यात्रा की शुरूआत श्रीकृष्ण मेमोरियल हॉल, पटना से हरी झंडी दिखा कर किया। निषाद आरक्षण संवाद बस यात्रा के लिए मुंबई से सज-धज कर आई हाईटेक आलिशान बस पटना के कारगिल चौक, पनाश होटल, बिस्कोमान भवन, राजापुर पुल, बोरिंग रोड चौराहा, हड़ताली मोड़ से आयकर गोलंबर होते हुए मीठापुर पुल तथा चिरैयाटाड़, पुल तथा राजेंद्र नगर ओवर ब्रिज के रास्ते मोइनुल हक़ स्टेडीयम तक बस यात्रा निकाली गई। इस मौके पर उन्‍होंने कहा कि इस यात्रा का उद्देश्य निषाद आरक्षण की लड़ाई को घर-घर तक पहुंचाकर इसे मूर्त रूप देना है। यह यात्रा बिहार के प्रत्येक जिलों से होकर गुजरेगी तथा आगामी 4 नवंबर को गाँधी मैदान, पटना में लाखों लोगों की उपस्थिति में पार्टी के नाम की घोषणा की जाएगी।

  

सन ऑफ़ मल्लाह मुकेश सहनी ने कहा कि यात्रा के दौरान वे प्रदेश के सभी जिलों में तय दिनांक पर समाज के बीच उपस्थित रहेंगे। संघ के हजारों पदाधिकारी तथा कार्यकर्ता हजारों मोटरसाईकल तथा चार पहिया वाहन के साथ यात्रा में सम्मलित रहेंगे। प्रथम चरण में पटना के अलावा 2 सितंबर को पूर्वी चंपारण (मोतिहारी), 3 सितंबर को पश्चिम चंपारण (बगहा), 4 सितंबर को सहरसा, 5 सितंबर को सुपौल तथा 6 सितंबर- मधेपुरा में यात्रा निकाली जाएगी। कुल नौ चरणों में पुरे बिहार में यात्रा निकाली जाएगी। संघ के प्रदेश, जिला तथा प्रखंड/पंचायत स्तर के तमाम पदाधिकारी तथा कार्यकर्ता यात्रा का हिस्सा होंगे।

उन्‍होंने कहा कि यात्रा के दौरान संबंधित जिले में रात्रि में सभा तथा बैठक आयोजित की जाएगी। उसके बाद आगामी 4 नवंबर को पटना के गाँधी मैदान में यात्रा का समापन कर विशाल “निषाद आरक्षण महारैला’ का आयोजन किया जाएगा, जहां निषाद समाज का शक्ति प्रदर्शन होगा। उसी दिन VIP पार्टी के फुल फॉर्म  की घोषणा की जाएगी। गठबंधन के सवाल पर सन ऑफ़ मल्लाह ने कहा कि जो निषादों के हक़ की बात करेगा और हमारी मांगें सुनेगा, हम उनके साथ गठबंधन करेंगे। बिहार में निषादों का वोट बैंक 14% है। इसलिए दूसरी पार्टियों को गठबंधन के लिए हमारे पास आना पड़ेगा। हमारी मांगें पूरी नहीं होने पर अगले लोकसभा चुनाव में अपनी पार्टी के बैनर तले सभी 40 सीटों पर उम्मीदवार उतारा जाएगा।

सन ऑफ़ मल्लाह ने जोर देकर कहा कि 2015 के चुनाव में प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी तथा बीजेपी अध्यक्ष श्री अमित शाह द्वारा निषादों को आरक्षण देने का वादा किया गया था. मगर अबतक उनके द्वारा वादा पूरा नहीं किया गया है. चूँकि देश में एक संविधान है तथा पश्चिम बंगाल तथा उड़ीसा जैसे राज्यों में निषादों को आरक्षण प्राप्त है तो बिहार मर क्यों नहीं? इसका परिणाम2019 में दिखेगा और निषादों की शक्ति का एहसास करवाया जाएगा। मालूम हो कि सन ऑफ़ मल्लाह ने पिछले दिनों बिहार के विभिन्न जिलों में विशाल मोटरसाईकल महारैलीऔर 25 जुलाई को वीरांगना फूलन देवी शहादत दिवस के अवसर पर पटना में हजारों महिलाओं के साथ पैदल मार्च निकालकर बिहार की राजनीति में हलचल पैदा कर दिया था। अब वे ‘निषाद आरक्षण संवाद यात्रा’ के माध्यम से वे सम्पूर्ण बिहार के निषादों को गोलबंद कर रहे हैं।

वहीं, निषाद आरक्षण संवाद बस यात्रा की रवानगी के अवसर पर संघ के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ राजभूषण चौधरी, राष्ट्रीय प्रधान महासचिव श्री छोटे सहनी, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री बैद्यनाथ सहनी, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष श्री ब्रह्मदेव चौधरी, प्रदेश युवाध्यक्ष श्री गौतम बिंद, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष प्रो इंदुभूषण चौधरी, शेखपुरा जिलाध्यक्ष श्री पप्पू चौहान, प्रदेश महिला उपाध्यक्ष श्रीमती स्वर्णलता सहनी, प्रदेश महिला उपाध्यक्ष श्रीमती नीतू सिंह निषाद, प्रदेश उपाध्यक्ष श्री दिनेश बिंद, मुंगेर जिलाध्यक्ष श्री अरविन्द कुमार निषाद, पटना महानगर युवाध्यक्ष श्री शंकर चौधरी औरंगाबाद जिलाध्यक्ष श्री रंजित चौधरी, वैशाली जिलाध्यक्ष श्री धीरज सहनी, सहित संघ के हजारों पदाधिकारी तथा कार्यकर्ता मौजूद रहे।

Print Friendly, PDF & Email